icon icon

FREE SHIPPING above Rs.350!*

Author
Nobel Hygiene

क्या आप लगातार यूरिन इन्फेक्शन से जूझ रहे हैं? क्या आपको बार-बार लगातार बाथरूम की ओर दौड़ लगाना पड़ता है? और क्या पेशाब करते समय आपको जलन महसूस होती है? क्या इस यूरिन इन्फेक्शन के कारण आपकी नींद खराब हो रही है, काम छूट रहा है, या इससे भी बदतर, आपकी किडनी खराब हो रही है? डरें नहीं! इन समस्याओं का समाधान है। 

यूरिन इन्फेक्शन, जिसे मूत्रपथ संक्रमण (यूटीआई) के रूप में भी जाना जाता है, दुनिया भर में लाखों लोगों को प्रभावित करता है। मगर इसका समय पर इलाज करना जरूरी है, नहीं तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। 

इस ब्लॉग में आप जानेंगे कि यूरिन इन्फेक्शन कैसे होता है, इसके लक्षण क्या हैं, इसके कितने प्रकार हैं, कारण क्या हैं, और कैसे संभव होगा यूरिन इन्फेक्शन का इलाज। 

यूरिन इन्फेक्शन क्या है?

यूरिन इन्फेक्शन कैसे होता है, यह जानने से पहले ये जानना जरूरी है कि यूरिन इन्फेक्शन क्या है।

यूरिन इन्फेक्शन एक प्रकार का संक्रमण है जो मूत्रपथ में होता है जिसमें गुर्दे, मूत्रवाहिनी, मूत्राशय और मूत्रमार्ग शामिल हैं। 

संक्रमण मूत्रपथ के किसी भी हिस्से में हो सकता है, लेकिन सबसे आम हैं मूत्राशय में संक्रमण (सिस्टिटिस) और गुर्दे में संक्रमण (पायलोनेफ्राइटिस)।

यूरिन इन्फेक्शन से समस्याएं बढ़ती हैं। मगर FRIENDS ऐडल्ट डायपर्स यूरिन इन्फेक्शन से जुड़ी समस्याओं में अपनी बेहतरीन प्रोडक्ट रेंज के साथ लोगों की सहायता कर रहा है।  

यूरिन इन्फेक्शन कैसे होता है?

अब जानते हैं कि यूरिन इन्फेक्शन कैसे होता है। यूरिन इन्फेक्शन तब होता है जब हानिकारक बैक्टीरिया मूत्रपथ में प्रवेश करते हैं और बढ़ते हैं, और इससे इन्फेक्शन यानि संक्रमण होता है। 

यौन क्रिया के दौरान या रक्तप्रवाह के माध्यम से भी बैक्टीरिया मूत्रमार्ग के माध्यम से मूत्रपथ में प्रवेश कर सकते हैं। 

संक्रमण वायरस या कवक के कारण भी हो सकता है, लेकिन बैक्टीरिया सबसे आम कारक हैं।

यूरिन इन्फेक्शन कितने प्रकार का होता है?

यूरिन इन्फेक्शन कैसे होता है यह जानने के बाद यह सवाल भी उठता है कि यूरिन इन्फेक्शन कितने प्रकार का होता है। यूरिन इन्फेक्शन कई प्रकार के होते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • मूत्राशय संक्रमण (सिस्टिटिस)
  • गुर्दे का संक्रमण (पाइलोनेफ्राइटिस)
  • मूत्रमार्ग संक्रमण (मूत्रमार्गशोथ)
  • प्रोस्टेट संक्रमण (प्रोस्टेटाइटिस)

यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण

यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण संक्रमण की गंभीरता और मूत्रपथ के प्रभावित हिस्से के आधार पर भिन्न हो सकते हैं। कुछ सामान्य लक्षणों में शामिल है:

  • पेशाब करते समय जलन होना
  • जल्दी पेशाब आना
  • गहरे रंग का या तेज़ गंध वाला पेशाब
  • पेट के निचले हिस्से या पीठ में दर्द
  • बुखार और ठंड लगना
  • पेशाब में खून आना

पुरुषों में यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण

पुरुषों में यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण सामान्य लक्षणों के अलावा थोड़े से भिन्न हो सकते हैं। इन लक्षणों में शामिल है:

  • मूत्र त्याग करने में दर्द
  • लिंग से स्राव
  • मलाशय या कमर में दर्द

महिलाओं में यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण

महिलाओं में यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण, आम लक्षणों के साथ कुछ इस प्रकार के भी हो सकते हैं:

  • दर्दनाक यौन क्रिया
  • योनि क्षेत्र में खुजली या जलन महसूस होना
  • योनि से स्राव
  • बार-बार पेशाब आना

यूरिन इन्फेक्शन के नुकसान

यूरिन इन्फेक्शन के नुकसान समय के साथ बढ़ते जाते हैं। इससे कई जटिलताएँ हो सकती हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • बार-बार संक्रमण होना
  • गुर्दे (किडनी) की स्थायी क्षति
  • गर्भावस्था संबंधी जटिलताओं का खतरा बढ़ना
  • सेप्टीसीमिया

यूरिन इन्फेक्शन के कारण

निम्नलिखित कारक मुख्य रूप से यूरिन इन्फेक्शन के कारण बन सकते हैं:

  • यौन क्रिया के दौरान मूत्रपथ में बैक्टीरिया का प्रवेश
  • अस्वच्छता
  • गर्भावस्था
  • मधुमेह (डायबिटीज)
  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली
  • कैथेटर का उपयोग
  • कुछ प्रकार के जन्म-नियंत्रण (बर्थ-कंट्रोल) उपकरणों का उपयोग करना
  • बढ़ती उम्र

यूरिन इन्फेक्शन से बचाव

यूरिन इन्फेक्शन को रोकना इसका इलाज करने से हमेशा बेहतर होता है। यूरिन इन्फेक्शन से बचाव के लिए इन सुझावों को आजमाएं:

  • अपने मूत्रपथ से बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मदद के लिए खूब पानी पीएं। 
  • जब आपको जरूरत महसूस हो तो पेशाब करें, उसे रोककर न रखें।
  • डूश, पाउडर या अन्य उत्पादों के उपयोग से बचें जो जननांग क्षेत्र में जलन पैदा कर सकते हैं।
  • अच्छी स्वच्छता अपनाएं, जैसे आगे से पीछे तक पोंछना और बाथरूम के बाद अपने हाथ धोना।
  • यदि संभव हो तो सार्वजनिक शौचालय या साझा बाथरूम का उपयोग करने से बचें।
  • टाइट-फिटिंग कपड़े या टाइट अंडरवियर पहनने से बचें जिससे त्वचा के करीब बैक्टीरिया फँसने का खतरा होता है। 

यूरिन इन्फेक्शन के समय ऐडल्ट डायपर का उपयोग कर सकते हैं। इससे न सिर्फ इन्फेक्शन सीमित रहेगा, बल्कि बार-बार पेशाब आने और रिसाव के कारण हो सकने वाली शर्मिंदगी से भी बचा जा सकेगा। बाजार में उपलब्ध ऐडल्ट डायपर्स में फ्रेंड्स ऐडल्ट डायपर्स अपनी उत्तम गुणवत्ता और बेहतरीन प्रोडक्ट रेंज के लिए जाना जाता है जो कि 16+ घंटों तक ड्राई रखने में सक्षम हैं। तो आप भी फ़्रेंड्स ऐडल्ट डायपर्स के साथ कह सकते हैं – आजादी मुबारक। 

निष्कर्ष

यूरिन इन्फेक्शन एक आम स्वास्थ्य समस्या है जो उम्र या लिंग की परवाह किए बिना किसी को भी प्रभावित कर सकती है। जटिलताओं को रोकने के लिए जानें कि यूरिन इन्फेक्शन कैसे होता है, और इसके कारणों, लक्षणों और उपचार विकल्पों को भी अच्छे से जानें। अच्छी स्वच्छता बनाए रखने, हाइड्रेटेड रहने और जरूरत पड़ने पर चिकित्सा सहायता लेने से, आप यूरिन इन्फेक्शन के जोखिम को कम कर सकते हैं।

FAQs

यूरिन इन्फेक्शन के मुख्य कारण क्या हैं?

यौन गतिविधि के दौरान मूत्रपथ में प्रवेश करने वाले बैक्टीरिया, खराब स्वच्छता, कैथेटर का उपयोग, गर्भावस्था, मधुमेह, कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली, कुछ प्रकार के जन्म नियंत्रण उपकरणों का उपयोग और बढ़ती उम्र यूरिन इन्फेक्शन के कारण बन सकते हैं।

यूरिन इन्फेक्शन में किस प्रकार का आहार लेना चाहिए?

फलों, सब्जियों और साबुत अनाज से भरपूर स्वस्थ आहार यूरिन इन्फेक्शन को रोकने में मदद कर सकता है। मसालेदार या अम्लीय खाद्य पदार्थों से बचें जो मूत्राशय में जलन पैदा कर सकते हैं।

यूरिन इन्फेक्शन का इलाज कैसे किया जाता है?

यूरिन इन्फेक्शन का इलाज एंटीबायोटिक दवाओं से किया जा सकता है, जो कुछ ही दिनों में संक्रमण को ठीक करने में मदद कर सकता है। खूब पानी पीने से मूत्रपथ से बैक्टीरिया को बाहर निकालने में भी मदद मिल सकती है।

यूरिन इन्फेक्शन के बार-बार होने के कारण क्या हो सकते हैं?

बार-बार यूरिन इन्फेक्शन लगातार जीवाणु संक्रमण, खराब स्वच्छता, कैथेटर का उपयोग या मूत्रपथ में समस्या के कारण हो सकता है।

यूरिन इन्फेक्शन में हाइड्रेशन क्यों महत्वपूर्ण है?

यूरिन इन्फेक्शन में हाइड्रेशन महत्वपूर्ण है क्योंकि भरपूर पानी पीने से मूत्रपथ से बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मदद मिल सकती है, और बार-बार होने वाले संक्रमण का खतरा कम हो सकता है।